In earlier times, girls were married off at a very early age. You would be quite emotional and disturbing this week. A  certain weight will be lifted off your chest. Sending love and light to all of you all around the world," Nick wrote. सुहागिन महिलाएं चांद को अर्घ्‍य देने के बाद पति के हाथों पानी पीकर व्रत तोड़ती हैं. From fasting for health reasons, detoxing, to honouring their love for each other, there are reasons beyond customary rituals for new-age couples to celebrate Karwa Chauth. Karwa Chauth 2019 Date: This year, Karwa Chauth date is October 17, Thursday. Festivals as the name suggest is a way to celebrate culture and traditions. On Karva Chauth, married women keep fast from sunrise to moonrise for their husbands and pray for their longevity. Diwali 2019: Nick Jonas with Priyanka Chopra. Many newly married woman or those woman who don’t have married but wants to celebrate karwa chauth vrat first time should know some history of करवा चौथ व्रत, karva chauth sargi, vidhi, katha and fast. As Navratri and Durga Puja came to a close, it is time to gear up for Karwa Chauth and Diwali. These 21 Android apps with adware shouldn't be on your smartphone, Live IPL Match RCB vs CSK: Live Match How to Watch IPL 2020 Streaming on Hotstar Star Sports & JioTV, Kapil Dev discharged from hospital after angioplasty, Happy Dussehra 2020: Kangana Ranaut, Karan Johar to Sidharth Shukla, celebs pour in wishes, IPL 2020 | Twin Super Overs and shocking batting collapses - Top moments from Week 5. All you married ladies out there, go feasting or fasting with your husbands. Ajrakh School Uniforms - See Pic, Alia, Shaheen And Mahesh Bhatt Made Soni Razdan's Birthday Extra Special, US Insists On Need To Ban TikTok Due To National Security Concerns, Armenia, Azerbaijan Agree "Humanitarian Ceasefire": US, British Army Boards Threatened Oil Tanker In English Channel, 7 Detained, WHO Chief Warns Against "Vaccine Nationalism", Offered Condolences Over Teacher's Death Contrary To French Claim: Turkey, This website follows the DNPA Code of Ethics, "Sending love and light," Nick Jonas' Diwali post for fans read, Priyanka Chopra celebrated Diwali in Cabo. शुभ संयोगों में मनेगा करवा चौथ का त्योहार, करवा चौथ पर इसलिए होती है गणेश, शिव, पार्वती और कार्तिकेय की पूजा, रिश्तों को मजबूत बनाने वाला होता है करवा चौथ का त्यौहार, Karwa Chauth puja vidhi 2019: करवा चौथ क्यों है खास त्योहार, Karwa Chauth 2019: करवा चौथ से जुड़ी बातें, Karwa Chauth Puja Vidhi 2019: करवा चौथ की पूजा विधि से जुड़ी बातें, Happy Karwa Chauth 2019: करवा चौथ पर व्रत के नियम और सावधानियां, करवा चौथ की तिथि और शुभ मुहूर्त (Karva Chauth Date and Time). फूल6. करवा चौथ की तिथि: 17 अक्‍टूबर 2019चतुर्थी तिथि प्रारंभ: 17 अक्‍टूबर 2019 (गुरुवार) को सुबह 06 बजकर 48 मिनट सेचतुर्थी तिथ‍ि समाप्‍त: 18 अक्‍टूबर 2019 को सुबह 07 बजकर 29 मिनट तककरवा चौथ व्रत का समय: 17 अक्‍टूबर 2019 को सुबह 06 बजकर 27 मिनट से रात 08 बजकर 16 मिनट तक.कुल अवधि: 13 घंटे 50 मिनटपूजा का शुभ मुहूर्त: 17 अक्‍टूबर 2019 की शाम 05 बजकर 46 मिनट से शाम 07 बजकर 02 मिनट तक. The time is perfect for those of you planning to go on a romantic vacation. Talk about it with your family first and consult your elders. Decorate the house with malas, lights and new baubles. कुल अवधि: 1 घंटे 16 मिनट. //-->. Dear brothers, Be generous and get ready to empty those pockets! Karva Chauth is an important festival for all married women. You will also feel more comfortable, more relaxed, and more at peace. Karaka Chaturthi (Karva Chauth) will be celebrated on 17th October this year. On Karva Chauth, married women keep fast from sunrise to moonrise for their husbands and pray for their longevity. This Hindu festival is celebrated nine days before Diwali. Remember that rules are made for everyone and it is best if you do not make waves in your workplace this week. मंगलसूत्र 3. I love and admire her so much, and as you can see we have fun together. Remember the father of our nation on his birth anniversary. Karwa Chauth fasting is done during Krishna Paksha Chaturthi in the Hindu month of Kartik and according to Amanta calendar followed in Gujarat, Maharashtra and Southern India it is Ashwin month which is current during Karwa Chauth. कार्तिक मास की चतुर्थी को करवा चौथ व्रत किया जाता है। इस व्रत को लेकर मान्यता है कि इसे करने से महिलाओं को अखंड सौभाग्य का वरदान मिलता है। करवा चौथ पर दिन भर निर्जला व्रत रखा जाता है. Those women, whose husbands were already at war, would join in with the others and pray for their loved ones. Even if organized religion does not interest you, do not worry. A day before Karva Chauth, these women would buy karvas or clay pots, paint them on the outside and fill them up with candy, bangles, small items of clothing, cosmetics, ribbons and more, and exchange these with their ‘god-sisters’. If you are planning to start your own business, now is not the time. Stop scrolling and push that bookmark icon on your screen right now! Diwali/karawa chauth 2019 rangoli/cute girl rangoli - YouTube Kids helmets are a weighty ... No kidding! Hrithik buys super-sized lair for ‘just... Hrithik buys super-sized lair for ‘just’ Rs 97.50 crore. The season of festivals is officially here and we couldn't be more excited. On Karva Chauth, married women keep fast from sunrise to moonrise for their husbands and pray for their longevity. नथनी 10. All rights reserved. 2019 Karwa Chauth. October 2019 festivals Catch up a Ram-leela show, watch Raavan go down in flames and bid farewell to Ma Durga on this auspicious day. And, the festival of Karva Chauth was celebrated to mark the significance of their unique bond. Click here to read your 2020 annual horoscope. It also provides you further insights into an idea that gradually starts coming together and shaping up into something exciting. धूप या अगरबत्ती15. #KarwaChauth pic.twitter.com/e1kzZBwg2a, रात 8 बजकर 51 मिनट पर दिखेगा। मुंबई(Mumbai) में इस पर्व को खास तौर पर मनाया जाता है। इस व्रत में चंद्र दर्शन करने के बाद ही व्रत खोला जाता है। इस दिन महिलाएं 16 श्रृंगार करती हैं। और अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं। करवा चौथ व्रत का पूजन शाम के समय किया जाता है।, रात 8 बजकर 44 मिनट पर दिखेगा। गांधी-नगर(Gandhi nagar) में इस पर्व को खास तौर पर मनाया जाता है। इस व्रत में चंद्र दर्शन करने के बाद ही व्रत खोला जाता है। इस दिन महिलाएं 16 श्रृंगार करती हैं। और अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं। करवा चौथ व्रत का पूजन शाम के समय किया जाता है।, रात 8 बजकर 30 मिनट पर दिखेगा। हैदराबाद में इस पर्व को खास तौर पर मनाया जाता है। इस व्रत में चंद्र दर्शन करने के बाद ही व्रत खोला जाता है। इस दिन महिलाएं 16 श्रृंगार करती हैं। और अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं। करवा चौथ व्रत का पूजन शाम के समय किया जाता है।, रात 8 बजकर 23 मिनट पर दिखेगा। जयपुर में इस पर्व को खास तौर पर मनाया जाता है। इस व्रत में चंद्र दर्शन करने के बाद ही व्रत खोला जाता है। इस दिन महिलाएं 16 श्रृंगार करती हैं। और अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं। करवा चौथ व्रत का पूजन शाम के समय किया जाता है।, पंजाब/ हरियाणा/चंडीगढ़ - Chandigarh Karwa Chauth 2019 Moon Rise Timeस्थान- चंडीगढ़ चांद निकलने का समय- 8:14 PM, प्रयागराज में करवा चौथ का चांद रात 8 बजकर 03 मिनट पर दिखेगा। प्रयागराज में इस पर्व को खास तौर पर मनाया जाता है। इस व्रत में चंद्र दर्शन करने के बाद ही व्रत खोला जाता है। इस दिन महिलाएं 16 श्रृंगार करती हैं। और अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं। करवा चौथ व्रत का पूजन शाम के समय किया जाता है।, Dehradun Karwa Chauth 2019 Moon Rise Timeस्थान- देहरादूनचांद निकलने का समय- 8:10 PM, Jhansi Karwa Chauth 2019 Moon Rise Timeस्‍थान- झांसीचांद निकलने का समय- 8: 18 PM, 'ॐ शिवायै नमः' यह मंत्र माता पार्वती का माना गया है। माना जाता है कि इस मंत्र का जप करवा चौथ के दिन करने से मां पार्वती प्रसन्न होती हैं।, Faizabad Karwa Chauth 2019 Moon Rise Timeस्‍थान- फैजाबादचांद निकलने का समय- 7: 59 PM, ओम अमृतांदाय विदमहे कलारूपाय धीमहि तत्रो सोम: प्रचोदयात ओम षण्मुखाय नमःओम सोमाय नमःचंद्रमा पूजन के दौरान इस मंत्र के जाप से आपके जीवन की सभी परेशानियों का निवारण हो जाता है ।, Bahraich Karwa Chauth 2019 Moon Rise Timeस्‍थान- बहराइच चांद निकलने का समय- 8: 00 PM, प्रात: पूजा के समय इस मन्त्र के जप से व्रत प्रारंभ करें- 'मम सुखसौभाग्य पुत्रपौत्रादि सुस्थिर श्री प्राप्तये करक चतुथीज़् व्रतमहं करिष्ये।' अब जिस स्थान पर आप पूजा करने वाले हैं उस दीवार पर गेरू से फलक बनाकर चावल को पीसें। इस घोल से करवा चित्रित करें। इस विधि को करवा धरना कहा जाता है।, Agra Karwa Chauth 2019 Moon Rise Timeस्‍थान- आगराचांद निकलने का समय- 8: 16 PM, Meerut Karwa Chauth 2019 Moon Rise Timeस्थान- मेरठ चांद निकलने का समय- 8:14 PM, Gorakhpur Karwa Chauth 2019 Moon Rise Timeस्‍थान- गोरखपुरचांद निकलने का समय- 8: 09 PM, अगर आपने ‘कभी खुशी, कभी गम' फिल्म देखी है, तो आप सरगी के बारे में बखूबी जानते होंगे। यह परंपरा पंजाबियों में ज्‍यादा मनाई जाती है, यह एक तरह की खाने की थाली होती है, जो कि सास अपनी बहू के लिए लेकर आती है। इसमें वह खाना होता है, जो सुबह जल्दी उठ के सूर्य निकलने से पहले खाया जाता है. लाल रंग के कपड़े 6. Burn your inner Raavan this Dussehra and give up a bad habit. Video: Same old story: Encroached and c... Video: Same old story: Encroached and choked drain wreaks havoc in Hosakerehalli. From sunrise till sunset, married women keep a fast for the safety and long life of their partners. Consider whether your anger is worth damaging your relationships. She has taught me so much about her culture and religion. Kids helmets are a weighty affair. The auspicious festival of Karva Chauth falls on October  17, 2019. The Karwa Chauth Puja Muhurat or the auspicious time will last 1 hour 16 minutes. Diwali is held on 15th day of the month of Kartika in the Hindu calendar and celebrates the festival of lights. करवा चौथ पर दिन में महिलाएं मिट्टी के गणपति बनाकर उनकी विधि-विधान से पूजा करती हैं। अखंड सौभाग्य की कामना होती है और शाम को चांद को देखकर व्रत खोलती है। इस दिन गणपति की पूजा करके महिलाएं सास और जेठानी को बायना देकर अखंड सौभाग्य का आशीर्वाद लेती हैं। रात को चांद की पूजा करके व्रत खोला जाता है।, करवा चौथ मनाने के पीछे एक कथा भी है जिसके अनुसार जब सत्यवान की आत्मा को लेने के लिए यमराज आए तो पतिव्रता सावित्री ने उनसे अपने पति सत्यवान के प्राणों की भीख मांगी और अपने सुहाग को न ले जाने के लिए निवेदन किया। यमराज के न मानने पर सावित्री ने अन्न-जल का त्याग दिया। और वह अपने पति के शरीर के पास विलाप करने लगीं। पतिव्रता स्त्री के इस विलाप से यमराज विचलित हो गए और उन्होंने सावित्री से कहा कि अपने पति सत्यवान के जीवन के अतिरिक्त वह कोई और वर मांग ले। तब सावित्री ने यमराज से कहा कि आप मुझे कई संतानों की मां बनने का वर दें, जिसे यमराज ने हां कह दिया। पतिव्रता स्त्री होने के नाते सत्यवान के अतिरिक्त किसी अन्य पुरुष के बारे में सोचना भी सावित्री के लिए संभव नहीं था। अंत में अपने वचन में बंधने के कारण एक पतिव्रता स्त्री के सुहाग को यमराज लेकर नहीं जा सके और सत्यवान के जीवन को सावित्री को सौंप दिया। कहा जाता है कि तब से स्त्रियां अन्न-जल का त्यागकर अपने पति की दीर्घायु की कामना करते हुए करवाचौथ का व्रत रखती हैं।. मांग टीका 13. Hotels in Bengaluru minimise use of oni... Hotels in Bengaluru minimise use of onion as price soars. कथा तेज़ आवाज़ में पढ़ी जाती है. Capricorn: This week will be very hectic due to the influence of Jupiter and the Moon. व्रत के दिन टाइम धीरे-धीरे निकलता है, लेकिन आपको भूख या प्यास महसूस होने से पहले शाम हो जाती है. Cancer: Avoid any discussion this week. पूजन सामग्री इस प्रकार है- मिट्टी का टोंटीदार करवा व ढक्‍कन, पानी का लोटा, गंगाजल, दीपक, रूई, अगरबत्ती, चंदन, कुमकुम, रोली, अक्षत, फूल, कच्‍चा दूध, दही, देसी घी, शहद, चीनी,  हल्‍दी, चावल, मिठाई, चीनी का बूरा, मेहंदी, महावर, सिंदूर, कंघा, बिंदी, चुनरी, चूड़ी, बिछुआ, गौरी बनाने के लिए पीली मिट्टी, लकड़ी का आसन, छलनी, आठ पूरियों की अठावरी, हलवा और दक्षिणा के पैसे।, करवा चौथ के दिन को करक चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है। करवा या करक मिट्टी के पात्र को कहते हैं जिससे चन्द्रमा को जल अर्पण, जो कि अर्घ कहलाता है, किया जाता है। पूजा के दौरान करवा बहुत महत्वपूर्ण होता है और इसे ब्राह्मण या किसी योग्य महिला को दान में भी दिया जाता है। करवा चौथ दक्षिण भारत की तुलना में उत्तरी भारत में ज्यादा प्रसिद्ध है। करवा चौथ के चार दिन बाद पुत्रों की दीर्घ आयु और समृद्धि के लिए अहोई अष्टमी व्रत किया जाता है।, करवाचौथ की सबसे पहले शुरुआत प्राचीन काल में सावित्री की पतिव्रता धर्म से हुई। सावित्री ने अपने पति मृत्‍यु हो जाने पर भी यमराज को उन्‍हें अपने साथ नहीं ले जाने दिया और अपनी दृढ़ प्रतिज्ञा से पति को फिर से प्राप्‍त किया। दूसरी कहानी पांडवों की पत्‍नी द्रौपदी की है। वनवास काल में अर्जुन तपस्‍या करने नीलगिरि के पर्वत पर चले गए थे। द्रौपदी ने अुर्जन की जान बचाने के लिए अपने भाई भगवान कृष्‍ण से मदद मांगी। उन्‍होंने पति की रक्षा के लिए द्रौपदी से वैसा ही उपवास रखने को कहा जैसा माता पार्वती ने भगवान शिव की रक्षा के लिए रखा था। द्रौपदी ने ऐसा ही किया और कुछ ही समय के बाद अर्जुन वापस सुरक्षित लौट आए।, करवा चौथ 2019 तारीख 17 अक्टूबरकरवा चौथ पूजा मुहूर्त- 17:46 से 19:02चंद्रोदय- 20:20चतुर्थी तिथि आरंभ- 06:48 (17 अक्तूबर)चतुर्थी तिथि समाप्त- 07:28 (18 अक्तूबर), Mumbai Karwa Chauth 2019 Moon Rise Time : मुंबई(Mumbai) में कब दिखेगा करवा चौथ का चांद प्रयागराज में करवा चौथ का चांद, Gandhi nagar Karwa Chauth 2019 Moon Rise Time : गांधी-नगर(Gandhi nagar) में कब दिखेगा करवा चौथ का चांद प्रयागराज में करवा चौथ का चांद, Hyderabad Karwa Chauth 2019 Moon Rise Time : हैदराबाद में कब दिखेगा करवा चौथ का चांद प्रयागराज में करवा चौथ का चांद, Jaipur Karwa Chauth 2019 Moon Rise Time : जयपुर में कब दिखेगा करवा चौथ का चांद प्रयागराज में करवा चौथ का चांद, Karwa Chauth moon time: जानिए चंडीगढ़  में कब दिखेगा चांद, Prayagraj Karwa Chauth 2019 Moon Rise Time : प्रयागराज में कब दिखेगा करवा चौथ का चांद, Karwa Chauth moon time: जानिए देहरादून में कब दिखेगा चांद, Karwa Chauth moon time: जानिए झांसी में कब दिखेगा चांद, Karwa Chauth 2019 mantra: यहां से लें करवा चौथ मंत्र, Karwa Chauth moon time: जानिए फैजाबाद में कब दिखेगा चांद, Karwa Chauth moon time: जानिए बहराइच में कब दिखेगा चांद, karwa Chauth puja vidhi: जानिए करवा चौथ के पूजा की विधि, Karwa Chauth moon time: जानिए आगरा में कब दिखेगा चांद, Karwa Chauth moon time: जानिए मेरठ में कब दिखेगा चांद, Karwa Chauth moon time: जानिए गोरखपुर में कब दिखेगा चांद, करवा चौथ व्रत विधि, इस बारे में जरूर जान लें.